जयपुर, मई 18, 2022.

कोरोना के कारण दो साल बंद रही अमरनाथ यात्रा इस बार फिर से शुरू हो रही है। इस बार यह यात्रा 30 जून से शुरू होकर 11 अगस्त तक चलेगी। हर साल इस यात्रा में लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं। जिनकी व्यवस्थाओं का ख्याल रखना सरकार का काम होता है। अमरनाथ यात्रा सुचारू रूप से कैसे संपन्न हो इसके लिए आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में एक हाई लेवल मीटिंग की, जिसमें उन्होंने जिम्मेदार अधिकारियों से यात्रा के संबंध में बनाए गए नियम और व्यवस्था की जानकारी ली, साथ ही जरूरी निर्देश भी दिए।

बैठक में अमरनाथ यात्रियों के आवागमन, ठहरने, बिजली, पानी, संचार और स्वास्थ्य समेत सभी आवश्यक सुविधाओं की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए। बताया गया कि कोविड के बाद यह पहली यात्रा है और अत्यधिक ऊंचाई के कारण अगर लोगों को किसी तरह की स्वास्थ्य सबंधित समस्या हो उसके लिए पर्याप्त इंतज़ाम करने होंगे। यात्रा मार्ग में बेहतर संचार और किसी भी सूचना के प्रसार के लिए मोबाइल टावर बढ़ाए जाएं, भूस्खलन होने की स्थिति में मार्ग तुरंत खोलने के लिए मशीनें तैनात करने का भी निर्देश दिया गया।

इसके अलावा जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव ने बताया कि यात्रा के लिए टेंट सिटी, यात्रा मार्ग पर वाईफाई हॉटस्पॉट और समुचित प्रकाश की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही बाबा बर्फानी के ऑनलाइन लाइव दर्शन, पवित्र अमरनाथ गुफा में सुबह और शाम की आरती का सीधा प्रसारण और बेस कैंप में धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

Live Updates COVID-19 CASES