जयपुर, मार्च 11, 2022.

उत्तर प्रदेश में फिर योगी सरकार को स्पष्ट बहुमत मिला है। भाजपा ने 273 सीटें हासिल की हैं। हालांकि, इस बार सीटें कम हुई हैं। भाजपा पिछली बार रिकॉर्ड 312 सीटों पर जीती थी।

उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत के पीछे कुछ विरोधी दलों की रणनीति भी जिम्मेदार है। जैसे- यहां बसपा ने 122 सीटों पर ऐसे उम्मीदवार खड़े किए, जो सपा के उम्मीदवार की ही जाति के थे। इससे वोट बंट गए। सपा खुद को मुस्लिम सरपरस्त पार्टी की छवि से बाहर नहीं निकाल पाई। वह भाजपा के हिन्दुत्व का काट नहीं खोज पाई। उसके हिंदू वोटर छिटक गए। मोदी-योगी ने लगातार हर चीज को हिन्दुत्व से जोड़ा। इससे वे हिंदू वोटों का ध्रुवीकरण करने में भी कामयाब रहे।