जयपुर,जून,2022.

टॉपरैंकर्स ने जयपुर शहर में अपने हाइब्रिड क्लासरूम सेंटर लॉन्च करने की घोषणा की है। इंजीनियरिंग और मेडिकल से परे करियर बनाने के लिए भारत का सबसे बड़ा प्लैटफॉर्म और भारत के कुछ सबसे भरोसेमंद ब्रांडों में एक टॉपरैंकर्स देश के विभिन्न हिस्सों में अपने नेटवर्क का विस्तार कर रहा है। भोपाल, इंदौर, जोधपुर, जबलपुर, दिल्ली, रांची, गुरुग्राम, कानपुर, रायपुर और बिलासपुर जैसे 10 शहरों में पहले से टॉपरैंकर्स कार्यरत है। हालमें यह कम्पनी सिक्स्थ सेंसवेंचर्स के मार्गदर्शन में फंडिंग के नए दौर में 31 करोड़ रु. जुटाने में सफल रही है।

पूरे देश में पहुंच और सुलभता बढ़ाने का निरंतर प्रयास करते हुए टेक-सक्षम क्लासरूम का उद्देश्य छात्रों को सीखने का हाइब्रिड मॉडल देना है जिसमें ऑफलाइन और ऑनलाइन का तालमेल है। इस केंद्र की डिजिटल लाइब्रेरी भी है जिसमें छात्र सीखने के सही माहौल में खुद पढ़ाई कर सकते हैं। कम्पनी की योजना आगामी 12 महीनों में 10 अन्य केंद्र शुरू करने की है जो क्लैट/ज्युडिशियरी, आईपीएम, सीयूईटी, एनआईडी, एनटीए आदि परीक्षाओं की तैयारी करते छात्रों को हाइब्रिड और   सफलता सुनिश्चित करते क्लासरूम सेशन का लाभ देंगे।

टॉपरैंकर्स के मुख्य विकास    अधिकारी  करण मेहता ने इस लॉन्च के बारे में बताया, “जयपुर शहर में हमारे नए क्षेत्रीय केंद्र के शुभारंभ की घोषणा करते हुए मुझे बहुत खुशी है। मेंटर के साथ-साथ 70 से ज्यादा पूर्णकालिक शिक्षकों की टीम के साथ हम अगले 3 वर्षों में 10 लाख से अधिक छात्रों का करियर संवारने के लिए निरंतर प्रभावी प्रयास जारी रखेंगे।”

उन्होंने बताया, ‘‘सामान्य कक्षा से हटकर हम छात्रों के लिए पूरा इकोसिस्टम बनाने पर ध्यान देते हैं।हम सर्वश्रेष्ठ प्रौद्योगिकी, शिक्षक और प्रारूप के तालमेल से सीखने का सकारात्मक अनुभव देते हैं। उच्चस्तरीय शिक्षणपद्धतियों से शिक्षकों का छात्रों से संबंध प्रगाढ़ होता है। छात्रों को बेहतर शिक्षा के अवसर मिलते हैं जो बेहतर परिणाम देते हैं। क्लासरूम के लिए हमने जो तकनीक चुनी है उससे क्लासरूम में छात्रों की सक्रिय भागीदारी बढ़ती है । उन्हें संशय दूर करने                                                                                                                              सहायता मिलती है। साथ ही, नियमित परीक्षा और अभ्यास के सत्र होते हैं और फिर सब पर व्यक्तिगत ध्यान दिया जाता है। परिणाम स्वरूप छात्रों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों की अच्छाइयों का लाभ मिलता है।”

हाइब्रिडक्लास में छात्र सप्ताह में 2-3 बार केंद्र आते हैं। इसके अतिरिक्त प्रत्येक छात्र का एक स्टार मेंटर होता है जो उसके समग्रप्रदर्शन का लगातार मूल्यांकन करता है। साथही, टेक-सक्षम टीचर प्लैटफॉर्म व्यक्तिगत छात्र/ बैच के बारे में सूझबूझ बनाने में शिक्षक की मदद करता है और तदनुसार समाधान देकर छात्रों को परीक्षा में उच्च स्कोर करने योग्य बनाता है। कॉन्सेप्ट क्लास, डाउटक्लियरिंग और मेंटरिंग के लिए तीन स्तरीय शिक्षा व्यवस्था   है जो शिक्षकों को टेक्नोलॉजी की मदद से छात्रों के कमजोर और मजबूत पक्ष समझने का अधिक समय देती है। टॉपरैंकर्स की शुरुआत गौरव गोयल, करण मेहता और हर्ष गगरानी ने की जो लगातार कई उद्यम बनाने में सफल रहे हैं। यह अब तक 2 लाख से अधिक छात्रों को करियर शुरू करने में सक्षम बना चुका है और अगले 3 वर्षों में 10 लाख छात्रों का करियर बनाने का लक्ष्य रखता है। कानून पढ़ने के उम्मीदवारों के बीच टॉपरैंकर्स पहले ही बहुत बढ़त बना चुका है। लीगल एज राष्ट्रीय कानून परीक्षाओं में 70 प्रतिशत रैंक दर्ज करने का श्रेय ले चुका है जब किज्युडिशियरी गोल्ड ने हाल में एमपीसीजे (मध्यप्रदेश न्यायपालिका परीक्षा – एमपी सिविल जज) 2022 के परिणाम पत्र पर अखिल भारतीय रैंक 1 हासिल किया है।कम्पनी की नई पहल सुपर ग्रैड्स और क्रिएटिव एज ने भी बारहवीं के बाद मैनेजमेंट और डिजाइन की परीक्षाओं में सर्वोच्च एआईआर प्राप्तकर अपने सफर की अच्छी शुरुआत की है।

टेस्टप्रेप के साथ-साथ टॉपरैंकर्स काल क्ष्य छात्रों को करियर डिस्कवरी, जॉबप्रेप, स्टडी अब्रॉड इत्यादि के साथ मदद करना है। इसमें संपूर्ण करियर कम्पनी बनने की स्पष्ट दूरदृष्टि दिखती है। हाल में घोषित सीयूईटी (कॉमन यूनिवर्सिटीज एंट्रेंस टेस्ट) –अधिकतर राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए परीक्षा अनिवार्य करने के साथ कम्पनी के लिए नए अवसर खुल गए हैं। इसमें 12वीं के बाद इंजीनियरिंग और मेडिसिन से परे आकर्षक करियर के विकल्पों के बारे में जागरूकता और सफलता की दर बढ़ाने की परिकल्पना की गई है।