जयपुर, दिसंबर 21, 2021.

पांच साल में पहली बार दिसंबर शेयर निवेशकों के लिए सबसे ख़राब रहा है । इस दिसंबर अब तक करीब 7 लाख करोड़ रूपए का नुकसान हो चुका है ।

बाजार पहली बार चार महीनों के सबसे निचले स्तर पर पंहुचा है । बाजार विश्लेषकों का मानना है कि ओमीक्रॉन के बढ़ते मामलों की वजह से यूरोपियन देशो में फिर से प्रतिबंध लगाए जा रहे है, इससे निवेशकों में डर बढ़ रहा है।

कई देशों में यात्रा पाबंदियों और नीदरलैंड में लॉकडाउन के बाद कई देशों में भी ऐसे हालात बनना प्रमुख कारण है ।