जोधपुर, सितम्बर 08, 2022.

 ‘लम्पी’ – एक ऐसा वायरस जिसने गोपाल को, किसानो, ग्रामीणों, और प्रत्येक मनुष्य को झकझोर कर रख दिया है। जिस गति से इस वायरस ने गायों के प्राण लिए है, गांव और शहरों में हर जगह हड़कंप मचा हुआ है। हालाँकि सरकारी आंकड़ा 38000 के लगभग है परन्तु वास्तविक परिस्तिथि कही ज्यादा भीषण है। लाखो की तादात में पश्चिम भारत विशेषकर राजस्थान में लम्पी वायरस से ग्रसित गौधन तड़प रहा है और सरकार के पास इसका कोई स्थायी समाधान नहीं है। राजस्थान के मुख्यमंत्री केंद्र सरकार से लम्पी वायरस को ‘महामारी’ घोषित करने की मांग कर चुके है। अबतक यह वायरस राजस्थान सहित देश के 7 राज्यों में फैल चुका है।

जब सब और निराशा छायी हुयी है और गौमाताओं की भीषण लम्पी रोग से मृत्यु हो रही है, तब “गौरक्षा परमोधर्म:” शास्त्रों में लिखी यह वाणी चरितार्थ करने का ज्योतिमय कार्य जोधपुर निवासी समाजसेवी और आयुर्वेद के ज्ञाता श्रीनारायणदास प्रजापति ने किया है। जोधपुर, सांगरिया निवासी श्रीनारायणदास प्रजापति ने अपने आयुर्विज्ञान और लगन से इस लम्पी वायरस का इलाज ढूंढ लिया है। उनके द्वारा स्थापित विश्वस्तरीय कंपनी ‘कल्टीवेटर नेचुरल प्रोडक्ट्स’ में प्रतिदिन हज़ारो की संख्या में लम्पी रोग निवारक गोलियाँ तैयार की जार ही है। श्री प्रजापति इस दवाई के पांच दिन का कोर्स गोपाल को, गो सेवकों, गौशालाओ, और आमजन में निशुल्क वितरण कर रहे है।

श्री प्रजापति के नेतृत्व में कल्टीवेटर नेचुरल प्रोडक्ट्स के वैज्ञानिको ने गहन अनुसन्धान करके आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से गोलियों का निर्माण किया और एक 5 दिन का गौ माता के लिए दवाई का कोर्स तैयार किया है। यह 5 दिन का आयुर्वेदिक दवा का कोर्स लम्पी वायरस के लिए रामबाण दवा बन चुका है। 13 /08 /2022 से श्री प्रजापति और उनकी टीम लम्पी रोगनिवारक दवा के किट का निशुल्क वितरण कर रहे है। प्रतिदिन उनके द्वारा 1200 – 1500 किट्स का निशुल्क वितरण जारी है। अभी तक नारायणजी के द्वारा 22000 से ज्यादा किट्स का वितरण किया जा चुका है। इसका सीधा परिणाम आसपास के क्षेत्रों में देखने को मिला है, जहा गौमाताएं लम्पी रोग से ठीक हो रही है। इस चमत्कारिक परिणाम को देखकर और भी स्थानों से लोग दवा लेने आ रहे है।

श्रीनारायणदास प्रजापति से हुयी वार्ता में उन्होंने कहा, “राजस्थान ही नहीं देश के बड़े भागमें, विशेषतौर पर ग्रामीण इलाको में गौधन ही जीवनयापन का स्त्रोत्र है। जब से लम्पी वायरस ने पश्चिम राजस्थान में गौमाताओ को पीड़ा दी तभी हमने आयुर्वेद में इसका इलाज ढूँढना शुरू कर दिया था। कल्टीवेटर नेचुरल प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के वैज्ञानिको के अथक प्रयासों से हम इस बीमारी की रामबाण दवा तैयार कर सके। हम 5 दिन की लम्पी रोग निवारक दवा के किट का निशुल्क वितरण कर रहे है। इसमें कई गौ सेवक, महात्मा, समाजसेवी संस्थाए, आदि भी हमारा सहयोग कर रहे है। हमारे पास राजस्थान के अलावा मध्यप्रदेश से भी गौपालक दवा लेने के लिए आर हे है।”

आगे बात करते हुए नारायण जी ने बताया, “लम्पी रोग राजस्थान के अलावा और भी राज्यों में फैल रहा है और गायों के लिए अत्यंत कष्टदायक है। राजस्थान में तो लम्पी वायरस की तबाही से इतनी गौ मृत्यु हुई है की उन्हें दफ़नाने के लिए भी जगह नहीं मिल रही। ऐसे में कल्टिवटर नेचुरल प्रोडक्ट्स की विश्वस्तरीय प्रोडक्शन फैसिलिटी दिन रात लम्पी रोग निवारक दवा के किट बना रहा है। हमारा लक्ष्य देश के सभी राज्यों में गौपालकों को यह दवा पहुँचाना है।”