Published On: Thu, Sep 9th, 2021

जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित जरूरतमंद बच्चों को नारायणा हॉस्पिटल, जयपुर देगा नया जीवन

जयपुर,सितम्बर 09, 2021.  

हृदय की जन्मजात बीमारियों से जूझ रहे मासूमों के लिए जयपुर शहर के नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल एवं कोशिका फाउंडेशन (एन.जी.ओ.) ने पहल की है। शुक्रवार, 10 सितम्बर से 25 सितम्बर 2021 तक, प्रातः 9 से 12 बजे (सोमवार से शनिवार), हॉस्पिटल में स्क्रीनिंग कैम्प आयोजित किया जायेगा। इस कैम्प द्वारा चयनित जरूरतमंद बच्चों (नवजात से 18 वर्ष की उम्र तक) जिन्हें हृदय सर्जरी या इंटरवेंशन करवाने हेतु आर्थिक सहयोग की जरूरत है उन्हें सहायता उपलब्ध करायी जायेगी। हॉस्पिटल के पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जन व पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजिस्ट (शिशु हृदय रोग विशेषज्ञ) की विशेषज्ञ टीम बच्चों का इलाज करेंगे। शिविर संबंधित जानकारी के लिए 96940 96100 पर संपर्क किया जा सकता है। अगर पहले भी बच्चे की कोई जांच करवाई गई हो तो परिजनों को वह रिपोर्ट साथ लानी होगी।

नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर की जोनल क्लिनिकल डायरेक्टर डॉ. माला ऐरन ने बताया कि हमारी इस पहल ने पिछले कई सालों में सैंकड़ों जरूरतमंद बच्चों की सहायता की है और अब भी ऐसे, आर्थिक रूप से कमजोर कई बच्चें है जिन्हें उपचार द्वारा एक बेहतर जीवन दिया जा सकता है। हम यह भी जानते हैं कि कोरोना महामारी ने कई परिवारों को आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया है जिससे वह हृदय सर्जरी या इंटरवेंशन की पूरी राशि वहन करने की स्थिति में नहीं है। नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर के फैसीलिटी डायरेक्टर बलविंदर सिंह वालिया ने कहा कि, इस पहल के माध्यम से हम ऐसे ही जरूरतमंद बच्चों की सहायता करना चाहते है। हम हमारी सहयोगी संस्थाओं के शुक्रगुजार हैं जिनके वित्तीय सहयोग से बच्चों को विश्वस्तरीय ईलाज मिल पा रहा है।

नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर के सीनियर शिशु एवं बाल हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रशांत महावर ने बताया कि प्रतिवर्ष नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर ऐसे कैम्प के जरिए राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश एवं हरियाणा के आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के जन्मजात हृदय विकारों का इलाज करने के कार्य में एक सशक्त माध्यम बना हुआ है। ऐसे कैम्पों के जरिए नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर बड़े पैमाने पर बच्चों की हृदय संबंधित परेशानियों के प्रति जागरूकता लाने के लिए प्रयासरत है।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Live Updates COVID-19 CASES