Published On: Thu, Nov 18th, 2021

जयपुर के जवाहर कला केन्द्र में सिल्क महोत्सव 28 नवंबर तक

जयपुर, नवंबर, 2021.

उमंग आर्ट एंड क्राफ्ट द्वारा आयोजित सिल्क महोत्सव का आयोजन जयपुर में 28 नवंबर तक किया जा रहा हैं। यहाँ प्रतिदिन सुबह 11 बजे से रात 8:30  बजे तक देशभर के कोने-कोने से विविध स्थानों की लोकप्रिय वैरायटी की सिल्क साड़ीयाँ एवं ड्रैस मटेरियल पेश किये गये हैं, जो मन को लुभाने वाले हैं। तरह-तरह के डिजाइन्स, पैटन्र्स, कलर-कॉम्बिनेशन इन साडिय़ों का व्यापक खजाना यहाँ उपलब्ध है। साथ ही साथ, फैशन ज्वैलरी का भी लुभावना कलेक्शन यहाँ पेश किया गया है। कलकत्ता से आयें आर्टिजंस ने बताया कि प्रदर्शनी में वैसे तो हर स्टॉल पर कुछ न कुछ खास है, लेकिन प्योर गोल्ड जरी वर्क की कांजीवरम साड़ी लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी है। सोने और चांदी के तारों से बनी इस साड़ी की कीमत ढाई लाख रुपये है। इस साड़ी में लगभग 8से 10 ग्राम प्योर गोल्ड की जरी यूज होती है। सिल्क की इस साड़ी में सिल्क पर प्योरगोल्ड का वर्क होता है। इस साड़ी को हाथ से बनानें में लगभग दो से तीन महीने लगते है। सोने की जरी से बनी इस साड़ी में सोने की चमक आपकों अपनी आखों से दिखायी देगी। 

उमंग आर्ट एंड क्राफ्ट एक्सपो के सचिव आशीष गुप्ता ने बताया कि  इसके साथ ही कांजीवरम कुट्टू बोर्डर साड़ी भी लोगों को लुभा रही है। डेढ लाख रुपये की इस साड़ी में सिल्क पर सिल्वर का काम होता है। चांदी के तारों से बनी इस साड़ी को बनानें में लगभग डेढ से दो महीने लगते है। 

जवाहर कला केन्द्र, जेएलएन मार्ग पर आयोजित सिल्क महोत्सव में बनारसी सिल्क के अलावा लद्दाख सिल्क, अरिनी सिल्क, जॉर्जेट सिल्क, शिफॉन सिल्क, तस्सार सिल्क, मूगा सिल्क और मलबरी सिल्क जैसी वैराइटीज भी उपलब्ध है। इसके अलावा कश्मीरी सिल्क वर्क में  पशमीना शॉल और स्टोल्स की भी विभिन्न वैराइटीज उपलब्ध है। एक्सपो में साडी के साथ साथ बैग्स, ड्रेस मैटेरियल, ज्वैलरी की भी बहुत वैरायटी एग्जीबिट की गयी है। सिल्क महोत्सव में उपभोक्ताओं के साथ-साथ फैशन और वस्त्र व्यापार के पेशे में लगे लोग भी भारतीय सिल्क की खासियत को देखने को यहां आ रहे है। इस भव्य प्रदर्शनी व सेल में देश के विविध प्रांतो की राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय वैरायटी का चुनिंदा संग्रह प्रदर्शित किया गया है। यहाँ प्रस्तुत हर साड़ी एवं ड्रैस मटेरियल अपने-आप में अद्वितीय और मनमोहक है। इस विशिष्ट संग्रह में तमिलनाडु से कोयम्बटोर सिल्क, कांजीवरम् सिल्क, कर्नाटक से बेंगलूर सिल्क, क्रेप और जॉर्जेट साड़ी, बेंगलूर सिल्क, रॉ सिल्क मैटेरियल, आन्ध्र प्रदेश से कलमकारी, पोचमपल्ली, मंगलगिरी डै्रस मैटेरियल उपाडा, गडवाल, धर्मावरम, प्योर सिल्क जरी साड़ी, बिहार से टसर, कांथा, भागलपुर सिल्क ड्रेस मटेरियल, पंजाबी फुलकारी वर्क सूट व ड्रैस मैटेरियल, ब्लॉक हैण्डप्रिन्ट, खादी सिल्क एवं कॉटन ड्रेस मेटेरियल सम्मिलित किये गये हैं। 

प्रदर्शनी में प्रवेश नि:शुल्क है। देशभर के 100 से ज्यादा श्रेष्ठ बुनकर सिल्क महोत्सव  में सिल्क एवं कॉटन साडियाँ, सूट्स, ब्लॉक प्रिंटस,जॉर्जेट साडिय़ाँ, डिजाइनर साडिय़ाँ-सूट्स, प्रिंटेड साडिय़ाँ, बनारसी सिल्क साडिय़ों के व्यापक संग्रह के साथ उपस्थित हैं।

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Live Updates COVID-19 CASES