जयपुर, जून 08, 2022.

जयपुर में कुख्यात चेन स्नेचर को जवाहर सर्किल थाना पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया है। उसका साथी जेल में बंद है और वह पिछले तीन साल से फरार चल रहा था। जयपुर शहर में दोनों बदमाशों ने चेन स्नेचिंग की करीब 150 वारदातों को अंजाम दिया है। 4 राज्यों में सैकड़ों चेन स्नेचिंग की वारदात करने वाले दोनों बदमाश घर के अंदर तक घुसकर वारदात को अंजाम देते थे। फिलहाल गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

डीसीपी (ईस्ट) प्रहलाद कृष्णियां ने बताया कि कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया (38) पुत्र धनराज बावरिया निवासी गांव खोगसा झिनझाना सामली उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार किया है। वह पिछले तीन साल से फरार चल रहा था। जवाहर सर्किल पुलिस सोमवार को कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया को नोएडा जेल से प्रोडेक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर जयपुर लेकर आई है। अंतर्राज्जीय चेन स्नेचर तुलसी बावरिया अपनी गैंग के सरगना रामचन्द्र बावरिया के साथ मिलकर वारदात करता। राहगीर महिलाओं के साथ ही घरों के अंदर तक घुसकर पता पूछने के बहाने चेन स्नेचिंग की वारदात को अंजाम देते। वारदात के समय सरगना रामचन्द्र बावरिया उर्फ टोपीवाला बाइक चलाता था। उसका साथी तुलसी बावरिया चेन तोड़ने का काम करता था।

साल 2018 में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दोनों कुख्यात चेन स्नेचरों को चिन्हित किया गया था। पुलिस ने अंतर्राज्जीय चेन स्नेचर रामचन्द्र बावरिया उर्फ टोपीवाला को साल 2019 में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पिछले तीन सालों से चेन स्नेचर तुलसी बावरिया फरार चल रहा था। जयपुर शहर में दोनों बदमाशों ने चेन स्नेचिंग की करीब 150 वारदातों को अंजाम दिया। जिनके खिलाफ राजस्थान के अलावा दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में चेन स्नेचिंग के करीब 100 से अधिक प्रकरण दर्ज है। गिरफ्तार आरोपी तुलसी बावरिया जयपुर शहर के विभिन्न थानों में दर्ज चेन स्नेचिंग के करीब 3 दर्जन से अधिक प्रकरणों में वांछित चल रहा है।

Live Updates COVID-19 CASES