जयपुर दिसंबर 06, 2021.

सर्दियां आते ही शरीर आलसी और सुस्त होने लगता है । इस सुस्ती की वजह से काम में मन नहीं लगता । शरीर में आवश्यकता के अनुसार एनर्जी प्रोडूस नहीं होती और गर्माहट भी काम हो जाती है ।

ठंड में शरीर का तापमान कम होने के साथ मेटाबोलिज्म भी स्लो हो जाता है । मेटाबोलिज्म शरीर के लिए जरूरी गर्माहट को संतुलित रखता है ।

एक चमच्च गाय का घी रोज खाने से जोडों का दर्द, संक्रमण, सर्दी -खांसी जैसी परेशानियों में आराम मिलता है, साथ ही मेटाबोलिज्म का संतुलन बना रहता है । अदरक को चूसने से ब्लड सर्कुलशन भी तीख रहता है, जिससे बॉडी का वॉर्म रखने में मदद मिलती है ।

तुसली में मौजूद मेडिसिनल प्रॉपर्टीज रेस्पेटरी ट्रैक को साफ़ रखती है । तुलसी बॉडी के इंफ्लामेशन को भी कम करती है । काली मिर्च, दाल चीनी और हल्दी को खानपान में शामिल करने से शरीर का तापमान संतुलित रहता है । तिल, आयरन और कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत है ।
यह सभी चीजें सर्दियों में मेटाबोलिज्म ठीक रखती हैं और शरीर को गर्माहट देती हैं ।