जयपुर, मई 11, 2022.

38 वर्षीय दानिश सिद्दीकी अफगानिस्तान में ड्यूटी पर थे। पिछले जुलाई में स्पिन बोल्डक जिले में झड़पों को कवर करने के दौरान उनकी हत्या कर दी गई थी।

दिवंगत फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी समेत चार भारतीयों को फीचर फोटोग्राफी श्रेणी में प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया है। दानिश सिद्दीकी पिछले साल अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता पर कब्जे के दौरान हुए संघर्ष के कवरेज के दौरान गोली लगने से मारे गए थे। 

अमेरिका के प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार वेबसाइट के अनुसार रॉयटर्स समाचार एजेंसी के सिद्दीकी और उनके सहयोगियों अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू और अमित दवे को इस  पुरस्कार के लिए चुना गया है। 38 वर्षीय दानिश सिद्दीकी अफगानिस्तान में ड्यूटी पर थे। पिछले जुलाई में कंधार शहर के स्पिन बोल्डक जिले में अफगान सैनिकों और तालिबान के बीच हुई झड़पों को कवर करने के दौरान उनकी हत्या कर दी गई थी।

यह दूसरी बार है जब सिद्दीकी ने पुलित्जर पुरस्कार जीता है। रोहिंग्या संकट के कवरेज के लिए रॉयटर्स टीम के हिस्से के रूप में उन्हें 2018 में इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्होंने अफगानिस्तान संघर्ष, हांगकांग विरोध और एशिया, मध्य पूर्व और यूरोप की अन्य प्रमुख घटनाओं को व्यापक रूप से कवर किया था।