जयपुर, मई 18, 2022.

शीना बोरा हत्याकांड में जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई है। इंद्राणी 6 साल से ज्यादा समय से जेल में है, जिसके आधार पर कोर्ट ने उसकी रिहाई का आदेश दिया है। इससे पहले इंद्राणी मुखर्जी को बाम्बे हाईकोर्ट से जमानत नहीं मिल सकी थी। इंद्राणी मुखर्जी साल 2015 में गिरफ्तार हुई थी। वो मुंबई की बायकुला महिला कारागार में बंद है।

CBI की स्पेशल कोर्ट ने भी इंद्राणी को जमानत देने से कई बार मना कर दिया था। अपनी बेटी शीना की हत्या के आरोप में इंद्राणी मुखर्जी पर 24 अप्रैल 2012 से ट्रायल चल रहा है। CBI 2012 से इस मामले की जांच कर रही है। इंद्राणी पर आरोप है कि उन्होंने शीना की गला दबाकर हत्या कर दी थी और शव को रायगढ़ जिले के एक जंगल में दफना दिया था। जांच एजेंसियों का दावा था कि उन्हें शीना बोरा के अवशेष भी मिले हैं। 

इंद्राणी की ओर से दलील दी गई थी कि उनका मुकदमा 6 साल से भी ज्यादा समय से चल रहा है। अभी इसके जल्द निपटने की कोई संभावना नहीं है। इसे भी कोर्ट ने जमानत का एक बड़ा आधार माना है। जस्टिस एल नागेश्व राव, बीआर गवई और एएस बोपन्ना की बेंच ने यह फैसला सुनाया है। मुंबई पुलिस ने 25 अगस्त 2015 बेटी शीना की हत्या के आरोप में मुखर्जी को गिरफ्तार किया था

Live Updates COVID-19 CASES