जयपुर, जुलाई 14, 2022.

जयपुर में स्लो पॉइजन देकर एक व्यक्ति की हत्या का मामला सामने आया है। एक करोड़ रुपए की पॉलिसी और अय्यास जिदंगी जीने के चलते हत्या की गई है। मृतक की मां ने बहू के खिलाफ आरोप लगाते हुए मर्डर का मामला बजाज नगर थाने में दर्ज कराया है।

SHO शीशराम मीणा ने बताया कि शांति नगर करतारपुरा निवासी विमला देवी ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है। उसका बेटा महेन्द्र शर्मा उर्फ सोनू नौसेना में सामग्री अनुसंधान प्रयोगशाला में व्हीकल ऑपरेटर के पद पर कार्यरत था। मुंबई में पोस्टिंग के दौरान उसकी शादी प्रताप नगर निवासी छाया से हुई। शादी के 4 महीने बाद ही बेटा अपनी पत्नी को मुंबई लेकर चला गया। साथ-साथ रहने के दौरान बेटे महेन्द्र की तबीयत खराब रहने लगी। कॉल पर बात होने पर उसने बताया कि वह परेशान रहता है। पत्नी उससे झगड़ा करती है। मंहगी-मंहगी फरमाइश और स्कूटी लेकर देर रात तक घूमती रहती है। घर पर अपने पुरुष दोस्तों को बुलाकर पार्टी करती है। कई बार समझाया, लेकिन मानने की जगह झगड़ा करने लगती है।

विमला देवी ने 25 जनवरी 2021 को बहू छाया को कॉल किया। बेटे की तबीयत ठीक नहीं होने पर मुंबई मिलने आने की कहा। बहू ने आने की मना कर दिया। बताया कि मैं खुद इनको लेकर जयपुर आ रही हूं। 31 जनवरी 2021 को जयपुर आने पर बहू छाया के भाई प्रेमचन्द ने कॉल छोटे बेटे पंकज को कॉल किया। कॉल कर पूछने पर महेन्द्र को महात्मा गांधी या जयपुरिया हॉस्पिटल में दिखाने को कहा। कुछ देर बाद दोबारा कॉल कर प्रेमचन्द ने बताया कि महेन्द्र को जयपुरिया हॉस्पिटल दिखाने ले जा रहे है। बेटे से मिलने जयपुरिया हॉस्पिटल पहुंचने पर महेन्द्र के इमरजेंसी में होने की बताया। डॉक्टर्स से पूछने पर पता चला कि महेन्द्र की पहले ही मौत हो चुकी थी, हॉस्पिटल तो केवल बॉडी लाई गई है।

मृतक की मां का आरोप है कि बेटे की मौत के डेढ़ साल तक थाने के चक्कर लगाती रही। बेटे की संदिग्ध मौत पर रिपोर्ट दर्ज करने से पुलिस ने मना कर दिया। बहू के पास कुछ डायरी के पेज मिले। जिसमें बहू छाया के साइन भी है। उसने 3.80 लाख रुपए किसी धर्मेंद्र एवं रामसिंह के जरिए शराब का पेमेंट करना लिखा है। छाया के मोबाइल में तरुण शर्मा नाम के लड़के के नंबर और अश्लील चैटिंग है। जिसके बारे में पूछने पर वह झगड़ा करने लगी।

बहू से इतनी शराब कौन पीता था और डायरी में तांत्रिक के बारे में भी लिखा है। बेटे महेन्द्र की 1 करोड़ की ट्रम्प पॉलिसी के बारे में भी पूछा, लेकिन उसने कोई जानकारी नहीं दी। मृतक की मां विमला देवी ने आरोप लगाया है कि बहू ने अपने पिता और भाई के साथ मिलकर षड़यंत्र के तहत बेटे महेन्द्र की हत्या की है। अत्यधिक शराब और स्लो पॉइजन देकर बेटे को मारा। 1 करोड़ की पॉलिसी और अय्यास जिदंगी जीने के लिए यह सब किया गया है। यहां तक की बहू ने अपने परिवार को फायदा पहुंचाने के लिए बेटे को 15 लाख रुपए का लोन लेने के लिए मजबूर कर दिया था।