• September 24, 2021

जयपुर, जून, 2020 – आज इस वर्ष का दूसरा चंद्रग्रहण लगने वाला है। कोरोना संकट के बीच लगने वाला ये चंद्रग्रहण सभी राशि के जातकों के लिए खास होने वाला है। बता दें कि आज ये चंद्रग्रहण रात 11 बजकर 15 मिनट पर लगेगा और 6 जून की सुबह 2 बजकर 34 मिनट पर समाप्त होगा. ऐसे में इसका प्रभाव किस तरह से लोगों की जिंदगी पर पड़ने वाला है, ये जानना भी जरुरी है। 


ये उपछाया ग्रहण वृश्चिक राशि में लगने जा रहा है. दरअसल वृश्चिक राशि से आठवें भाव के अंदर राहु लगातार भ्रमण कर रहे हैं। बता दें कि राहु को संक्रमण, रोग और बीमारियों का कारक ग्रह माना गया है. राहु राशि से अठवें भाग के अंदर अपना प्रभाव नहीं दे पाता है और दूषित हालात में हो जाता है।

बताया जा रहा है कि ये ग्रहण वृश्चिक राशि में ही लगने वाला है. ऐसे में सबसे अधिक प्रभाव ग्रहण का इसी राशि के जातकों पर पड़ने वाला है. ऐसे में इन राशि के लोगों को अपने स्वास्थ्य का खास ध्यान रखने की जरूरत है. साथ ही ग्रहण में सावधानी बरतने की भी आवश्यकता है।

दुष्प्रभाव कम करने के उपाय 

इस लगने वाले ग्रहण काल के समय भगवान शिव जी के चालीसा का पाठ करें और ऊं नम: शिवाय के मंत्रों का लगातार जाप करें. उनका कहना है कि इस स्थिति में आप जितना प्रभु शिव की अराधना करेगें उतना ज्यादा फलदायी होगा. साथ ही अपनी माता के चरण स्पर्श करना न भूलें.

इसके अलावा चंद्रमा मन का कारक माना गया है. इसलिए जब इस पर कोई संकट आता है तो लोगों के जहन में नकारात्मक विचारों का वास होता है. लोग अजीब तरह की बातें सोचते हैं. लेकिन इस ग्रहणकाल में हर व्यक्ति का फर्ज बनता है कि वो अपने चंद्रमा को बलवान करने के लिए कोशिश करे.

Related Articles

Live Updates COVID-19 CASES