• October 23, 2021

देश भर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है।  कोरोना का कोई इलाज मेडिकल साइंस में 100 प्रतिशत कारगर नहीं है। ऐसे में दुनिया भर के डॉक्टर इम्युनिटी बढ़ाने पर जोर दे रहे है। ऐसे में भारत की आयुर्वेद पद्धति बहुत कारगर है।  इस पद्धति से इलाज भारत में प्राचीन काल से ही होता आया है। आयुर्वेद में इम्युनिटी बढ़ाने का भी जिक्र है ।

प्राकृतिक जड़ी बूटियों और पेड़ पौधों से तैयार होने वाली आयुर्वेदिक दवाएं इम्युनिटी बढ़ाने में सौ प्रतिशत इलाज में कारगर हैं और किसी भी बीमारी से लडऩे के लिए शरीर की प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करती हैं।

भारत सरकार के आयुष मंत्रालय की गाइडलाइन द्वारा कोरोना महामारी से बचाव के लिए कुछ घरेलू नुस्खे अपनाकर इस बीमारी से बचा जा सकता है। क्योंकि,कोरोना से बचाव ही इसका इलाज है।

आयुष मंत्रालय ने एक गाइडलाइन जारी कर यह बताया है कि कोरोना को मात देने में रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी सिस्टम का बहुत बड़ा योगदान है, लॉकडाउन के दौरान आयुष मंत्रालय द्वारा बताये गए सुझावों का अभ्यास कर रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त किया जा सकता है।

क्योंकि, इम्यूनिटी से ही आप कोरोना जैसी घातक बीमारी का मुकाबला कर सकते हैं। आयुष मंत्रालय ने कई वेदों की मदद से यह उपाय तैयार किए हैं।

आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के 

  • 150 मिलीग्राम दूध में आधा चम्मच हल्दी का पाउडर मिलाकर दिन में दो से तीन बार पिएं।
  • इसके अलावा आयुष मंत्रालय ने दिनभर गर्म पानी पीने, हर दिन कम से कम 30 मिनट योग करने और खाना पकाने के दौरान हल्दी, जीरा और धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने की सलाह दी है।
  • इसके अलावा दिन में योगा, प्राणायाम  करें।
  • इसके अलावा ऐसे मसाले हैं जिनका इस्तेमाल आप ज्यादातर अपने आहार में करें, जैसे जीरा, हल्दी, लहसुन और धनिया।
  • इसके अलावा रोज सुबह सुबह एक चम्मच च्यवनप्राश  का उपयोग करें।
  • मधुमेह रोगी शूगर फ्री च्यवनप्राश  का सेवन करें।
  • मधुमेह रोगी बादाम, अंजीर, काजू जैसे सूखे मेवे का सेवन कर सकते हैं।
  • जितना हो सके हर्बल चाय का सेवन करें।
  • इसके अलावा काढ़ा और हल्दी वाला दूध भी बेहद उपयोगी साबित हो सकता है।
  • तुलसी, काली मिर्च, दाल चीनी, मुनक्का, गुड़, सूखा अदरक और नीबूं का काढ़ा बेहद उपयोगी है।
  • इसके अलावा नाक में नारियल या तिल का तेल भी लगाएं।
  • तिल और नारियल के तेल को मुंह में दो से तीन मिनट रखकर थूक दें
  • इसके अलावा दिन में 3 से 4 बार गर्म पानी के गरारे करें।
  • खांसी या खराश में पुदीने के पत्ते या अजवायन के पानी की भांप लें। 
  • लॉन्ग के पाउडर को शहद  के साथ मिलाकर दो से तीन बार लें.

आयुष मंत्रालय ने कई वेदों की मदद से यह उपाय तैयार किए हैं।

Related Articles

Live Updates COVID-19 CASES